बीएसए की अंधेरगर्दी ने स्याह किया भावी शिक्षकों का भाग्य

बुलंदशहर। जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी ने प्रदेश के 5 हजार दलित शिक्षकों के भाग्य से खिलवाड़ किया है। जूनियर हाईस्कूलों में शिक्षक भर्ती की काउसंलिग के लिए बुलाये गए इन अभ्यर्थियों को बीएसए ने लो-मेरिट दिखाकर 5 दिन तक रोके और काउन्सलिंग के अंतिम दिन बिना किसी सूचना के मेरिट को 20 अंक ऊपर कर दिया।

बीएसए की इस हरकत से सातवीं काउंसलिंग के लिए आए करीब 5 हजार अभ्यर्थी बिना काउंसलिंग के रह गए है। कलैक्ट्रेट पर धरने पर बैठे अभ्यर्थियों ने बीएसए पर उगाही करके भर्ती करने का आरोप लगाए है।

प्रदेश के 50 से ज्यादा जिलों से बुलंदशहर में जूनियर हाईस्कूल शिक्षक बनने आए अभ्यर्थी शुक्रवार को कलैक्ट्रेट में बेसिक शिक्षा अधिकारी महेशचन्द्र के खिलाफ प्रदर्शन किया।

बीएसए ने बुलंदशहर में अनुसूचित जाति विज्ञान की मेरिट 42.1 अंक दर्शाते हुए अभ्यार्थियों को काउंसलिंग के लिए बुलाया था। लेकिन 2 फरवरी को जारी हुई मेरिट लिस्ट 6 फरवरी यानी आज तक 42.1 अंक पर ही लटकी रही।

शुक्रवार को काउंसलिंग के दिन अभ्यर्थियों की काउंसलिंग से इंकार करते हुए बीएसए के दफ्तर पर अनुसूचित जाति विज्ञान की मेरिट एकाएक 62.05 अंकों की चस्पा कर दी गयी। बीएसए के दफ्तर की इस धोखाधडी से हजारों छात्र काउंसलिंग और नौकरी से वंचित रह गए।

नियमों के मुताबिक बीएसए को 19 सीटों के सापेक्ष 20 गुने यानी 3800 अभ्यर्थियों को काउंसलिंग के लिए बुलाना चाहिए था। लेकिन करीब 5 हजार अभ्यर्थियों को काउंसलिंग के लिए लेटर भेज दिया गया।

बीएसए का कहना है कि छठी काउंसलिंग में मेरिट 69.04 तक पहुंची, लेकिन इस संबंध में कोई सूचना अभ्यर्थियों को नहीं दी गयी। 2 फरवरी से 5 फरवरी तक अखबारों और विभाग की वेबसाईट पर बीएसए के दस्तखतों से एससी विज्ञान की मेरिट 42.1 ही रही और 19 सीटों पर शिक्षकों की भर्ती कर ली गयी। लेकिन भर्ती के बाद जो मेरिट नीचे आनी चाहिए थी, वह आज अचानक ऊपर की ओर 62.05 प्रतिशत हो गयी।

19 सीटों पर चुपचाप शिक्षकों की भर्ती करने वाले बीएसए इसे अपनी गलती मान रहे है, लेकिन उनकी गलती का खामियाजा बेगुनाह अभ्यर्थी को भुगतना पड रहा है। प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थियों का आरोप है कि पूरा गडबडझाला उन दलालों के कहने पर हुआ है जो बीएसए आफिस पर अभ्यर्थियों से 5-5 लाख रूपए मांग रहे थे। पुलिस की सुरक्षा के बीच अब सारे अभ्यर्थी इंसाफ के इंतजार में कलैक्ट्रेट पर धरना दे रहे है।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s