दो बहनों की शादी के लिए मोदी ने की 50 हजार की मदद

unnamed (1)

बुलंदशहर। 15 महीने पहले अपनी बहिन की शादी के लिए देश के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मदद मांगी थी। पीएम नरेन्द्र मोदी ने इस साल जनवरी में इस पत्र का संज्ञान लिया और जिला प्रशासन की रिपोर्ट के बाद पीड़ित परिवार को 50 हजार रूपये की मदद भेजी है। दो बहिनों की शादी के लिए 50 हजार रूपये की मदद को पीड़ित परिवार नाकाफी बता रहा है।

बेरोजगारी से जूझ रहे बुलंदशहर के जटपुरा गाँव के मंजीत ने 15 महीने पहले देश के प्रधानमंत्री को एक चिठ्ठी लिखी। चिठ्ठी का मजमून था कि… ‘‘मंजीत ग्रेजुएट होने के बाद भी बेरोजगार है। उसके माता-पिता बुजुर्ग है और उसकी दो जवान बहिनें शादी के लिए कुँवारी बैठी है। उसे एक सरकारी नौकरी की जरूरत है जिससे वह अपने परिवार को पालने के साथ-साथ अपनी कुँवारी बहिनों की शादी कर सके।’’ मंजीत ने इस चिठ्ठी के साथ बहिनों की शादी के लिए जरूरी दहेज के सामान की लिस्ट भी भेजी थी।

चिटठी का जनवरी में मांगा संज्ञान

मनजीत ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के राज में अपनी मदद के लिए चिटठी भेजी थी। भेजी गयी चिटठी को बीजेपी के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जनवरी 2015 में संज्ञान लिया और राज्य सरकार से मंजीत की आर्थिक स्थिति पर रिपोर्ट मांगी। राज्य सरकार की रिपोर्ट के बाद अब मनजीत को 50 हजार रूपए का चैक मिला है।

मोदी ने देखी चिटठी और दिया जबाव

नरेन्द्र मोदी ने मंजीत की चिठ्ठी को अपनी आंखों से देखा और उसकी मदद करने का जज्बा दिखाया। जिला प्रशासन की जॉच में भी यह लिखा गया था कि मंजीत ही मजदूरी करके अपने परिवार का पेट पाल रहा है और उसके परिवार की आय का और कोई जरिया नही है। लेकिन दहेज की लिस्ट साथ लगाने के बाद मंजीत को केवल 50 हजार रूपये की मदद पीएमओ की तरफ से मिली है।

मंजीत ने मदद को बताया नाकाफी

मंजीत ने अपने परिवार की मदद के लिए मोदी को शुक्रिया तो कहा है लेकिन इस मदद को नाकाफी मानते हुए यह भी कहा है कि इस रकम से न तो परिवार के हालात सुधरने वाले है और न ही बहिनों की शादी हो पायेगी। बेहतर होता मोदी उसके लिए एक नौकरी का इंतजाम करा देते।

पीएम पर बढेगा जनता का विश्वास

देश के बड़े ओहदों पर बैठे नेताओं को आमतौर पर जनता की बुनियादी समस्याओं से दूर माना जाता है। लेकिन बुलंदशहर के मंजीत और आगरा की तैयबा की सीधे मदद करके मोदी ने इस भ्रम को तोड़ा है। हाँ..कहा जा सकता है कि मदद नाकाफी है। लेकिन एक शुरूआत तो हुई जिससे आगे आने वाले वक्त में देश के पीएम पर जनता का विशवास जगेगा।

डीएम बी0 चन्द्रकला ने बताया कि राज्य सरकार ने जिला प्रशासन को इस मामले में जॉच रिपोर्ट भेजने की जिम्मेवारी दी थी। जॉच में पाया गया कि परिवार बेहद गरीबी से गुजर रहा है और इस परिवार में दो बेटियां शादी के लायक है। सरकार से परिवार की मदद की संस्तुति की गयी थी।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s