बुलंदशहरः गंगा दशहरा पर्व पर स्नान करने पहुंचे 7 युवक डूबे, 6 की मौत

01-ganga

गंगा दशहरा पर्व पर गुरुवार को गंगा में डुबकी लगाने गए सात लोग नदी में डूब गए। करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद एक युवक को बचा लिया गया। जबकि दो सगे भाई सहित एक युवक की डेड बोडी गंगा में से निकाल ली गयी हैं। जबकि तीन युवकों की डेड बोडी अभी नहीं मिल पाई है जिनकी की तलाश अभी जारी है। सूचना पर एसडीएम और सीओ मौके पर पहुंच गए हैं।

बुलंदशहर के थाना आहार में सिद्धबाबा के मंदिर के पास चार लोग व अवंतिका देवी मंदिर के पास तीन लोग गंगा में स्नान कर रहे थे। स्नान के दौरान तेज बहाव में जाने की वजह से वे गंगा में डूब गए। उनकी तलाश के लिए गोताखोर ने देर शाम तक प्रयास किया, लेकिन गोताखोर एक युवक को ही गंगा में से निकाल पाए हैं। निकाले गए युवक खुर्जा निवासी मनीष ने बताया कि गंगा दशहरा पर स्नान करने अपने एक साथी श्याम के साथ आया था, जिसका पता अभी तक नहीं चल सका है। वही, अनूपशहर के महेश का भी अभी तक कोई पता नही चला हैं। दनकौर से आए चार युवकों में से तीन की डेड बोडी निकाल ली गयी है। गोताखोर अभी भी तीन युवकों की तलाश कर रहे है।

03-Ganga

दशहरा पर्व पर भंडारा करने आए थे

दनकौर मौहल्ले के धनौरी रोड से बुधवार शाम सुखपाल, सुंदर, सचिन व चंचल आहार में सिद्धबाबा के मंदिर पर भंडारा करने के लिए आए थे। सुंदर व सुखल दोनो सगे भाई थे। सचिन और चंचल भी इनके साथ आए थे। चारों गंगा स्नान के लिए गए और स्नान करने के दौरान चारों डूब गए।

ब्रजघाट से आए गोताखोर

एसडीएम हरीशंकर ने बताया कि सिद्धबाबा मंदिर के घाट पर चार युवकों के डूबने की सूचना मिली। जिनकी तलाश के लिए गोताखोर गंगा में भेज गए, लेकिन वो चारों युवकों को ढूढने में असफल रहे। उन्होंने बताया कि ब्रजघाट से पांच गोताखोरों को बुलाया गया। गोताखोरों ने तीन युवकों की डेंड बोडी निकाली है एक युवक की तलाश अभी जारी है।

अनूपशहर के एसडीएम अरूण कुमार ने बताया कि अवंतिका मंदिर पर खुर्जा से आए मनीष व श्याम और अनूपशहर के महेश डूब गए। गोताखोरों ने मनीष को बचा लिया, लेकिन श्याम और महेश का अभी तक कुछ पता नहीं चल सका है।

अनूपशहर के बसपा विधायक चौ. गजेन्द्र सिंह ने बताया कि सपा सरकार व प्रशासन ने अगर पहले ध्यान दिया होता तो अवंतिका देवी पर पक्के घाट के पास से एक धारा गंगा की निकाली जा सकती थी। उन्होंने कहा कि आज ऐसी घटना घटित न होती। विधायक ने शासन और प्रशासन से मांग की है कि घाट के नजदीक से होकर गंगा की जलधारा निकाली जाये। उन्होंने ने मृतक परिवारों को 20-20 लाख रूपए की आर्थिक मदद देने की मांग की है।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s