20 हजार करोड़ से सुधरेगी देश की गंगा की सूरत-उमा भारती

बुलंदशहर। केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने कहा कि केन्द्र सरकार ने 3 साल में देश में गंगा को स्वच्छ व अविरल बनाने के लिए 20 हजार करोड़ रूपयें कीे स्वीकृति प्रदान की है। जिसके लिए देश के 1619 ग्राम पंचायतों के 4 हजार गांवो को निर्मल गांवो के रूप में विकसित किया जायेगा तथा गंगा को स्वच्छ बनायें रखने के लिए लोगो को प्रेरित किया जायेगा।

केंद्रीय जलसंसाधन मंत्री उमा भारती ने कहा कि गंगा किनारे बसी तीर्थनगरी अनूपशहर उनका पसंदीदा जगह हैं। इसलिये उन्होंने नमामि गंगे योजना की लांचिंग गढ़ व अनूपशहर से करने का निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि जब तक केबीनेट से नमामि गंगे योजना को केबिनेट से मंजूरी नहीं मिल जती है वह अनूपशहर नहीं आयेंगी। उन्होंने कहा कि कस्बे के गंदे नालों का पानी अब गंगा में नहीं जाने पाये इसलिये आरएसडी योजना लागू की जा रही है। जिसके तहत नाले गंगा में नहीं पंड़ेगें, श्मशान ठीक किया जायेगा जिसमें पर मपरागत व विद्युत दोनों तरीके से शवदाह का इंतजाम होगा।

आधुनिक होगे घाट-
अनूपशहर के गंगा घाट पर उन्होने कहा कि आधुनिक शवदाह ग्रह बनाने की घोषणा की उमा भारती ने गंगा की जीवन शक्ति बनाये रखने की महती आवश्यकता बताते हुये गंगा में जलीय जीवों की सख्या बढाने के प्रयास करने निर्देश दिये। उमा भारती ने गंगा किनारे की 1619 ग्राम पंचायतों को निर्मल करने का सकल्प दोहराते हुये 1600 करोड देने की बात कही। उन्होने गंगा किनारे के सिरौरा एंव आहार ग्राम पंचायतो को माडल गांव बनाने की घोषणा की। इस दौरान उमा भारती ने बताया कि गंगा टास्क र्फोस का गठन कर लिया गया है जिसके तहत सेना के 100 जवान मेजर कीर्ति कुमार दबे के नेतृत्व में अनूपशहर रहकर गंगा किनारे पौधारोपण गंगा घाटों की सफाई एंव निर्मलता अविरलता बनाये रखने में सहयोग प्रदान करेगे।

uma-bharti02

सेना के जवान करेगें गंगा की रखवाली-
सेना जवान देंखेगें कि कौन औद्यौगिक इकाई गंगा को क्षेत्र मे ंप्रदूषित कर रहीं हैं कौन कौन से नाले गंगा में आ रहे हें तथा गंगा कैसे प्रदूषित हो रही है। जवानों को देश के साथ साथ अब गंगा की सुरक्षा की भी जिम्मेदारी सौंपी गयी है। उमा भारती ने कहा कि पीएम मोदी ने नारा दिया है कि अब हम गंगा को मैला नहीं रहने देंगें जिसका क्रियांवयन मेरे मंत्रालय को करना है। उन्होंने कहा कि मैं यह भी सुनिश्चित करूंगीं की इस बीस हजार करोड़ रूपये के फंड में से चवन्नी भी गलत तरीके से खर्च न होने पाये।

औद्योगिक इकाईयों के विरूद्ध होगी कार्रवाई-
गंगा को प्रदूषित करने वाली औद्योेगिक इकाईयों के विरूद्ध केन्द्रीय जल संसाधन मंत्रालय एवं केन्द्रीय प्रदूषण बोर्ड सख्त कार्रवाई करेगा। गंगा को प्रदूषित करने वाले के लिए प्रदेश सरकार से वार्ता कर कानून एक्ट बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि गंगा में जगह जगह एसटीपी लगाये जायेगा। साथ ही गंगा के एसटीपी के जरिए स्वच्छ होने वाले जल से किसानों को सिंचाई जलापूर्ति करायी जायेगी।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s