प्रदर्शनी में होता है अश्लील डांस, बालाओं पर यूं लुटाए नोट, देखें वीडियो

बुलंदशहर। जिले में 135 साल से चली आ रही जिला कृषि एवं सांस्कृतिक प्रदर्शनी अधिकारियों की बेरूखी की भेंट चढ़ गयी। संस्कृति और कृषि प्रोत्साहन के बजट के नाम पर महीने भर चलने वाले इस कल्चरल फेस्ट में जो हो रहा है, वह शर्मसार करने वाला है। संस्कृति का नाम पर हो रहे इस पाखंड से जिले के निवासी दुखी है।

जिला प्रदर्शनी में आयोजित फिल्मी गानों पर बालाओं का मुजरा और मुजरे में नोट लुटाते हुश्न के दीवाने। कहने को तो ये डांस पार्टियां है। लेकिन डांस पार्टी के नाम पर अमीरों के मनोरंजन के लिए डांस का इंतजाम। इस डांस के नाम पर बुलंदशहर की ऐतिहासिक नुमाइश में क्या-क्या नही हो रहा है। शाम को सात बजते ही बुलंदशहर नुमाइश की एक दर्जन डांस पंडालों में ये महफिलें शुरू होती है। इनकी फीस होती है 30 से 60 रूपये। लेकिन हुश्न पर कितनी भी रकम आप लुटा सकते है कोई पाबंदी नही।

डांस पार्टियों के संचालकों ने रोजाना आने वाले इन अय्याशों के लिए मंच के दोनो ओर स्पेशल अरेन्जमेंट भी किये हुए है। इतना ही नही डांसरों के रिहायशी कैम्प्स में भी इन चाहने वालों की मौजूदगी रहती है। मंच पर पड़े हुए नोट बटोरने के लिए नाबालिग बच्चों को इंतजाम किया गया है। हैरत की बात ये है कि ये नजारे जिला प्रशासन और पुलिस की आंख से अछूते नही है। लेकिन फिर भी कोई कार्रवाई नही या अन पर अंकुश लगाने के लिए तैयार नही है।

नुमाइश में सरकार की कृषि और कल्याणकारी योजनाओं के प्रसार और प्रोत्साहन के नाम पर महीने भर में करीब 50 से 70 लाख से ज्यादा रूपये फूँक दिये गये। लेकिन इन कार्यक्रमों में सरकारी अमला भीड़ नही जुटा पाया। दरअसल, नुमाइश की इन डांस पार्टियों का बूढ़े से लेकर बच्चे तक इतना क्रेज है कि सरकारी कार्यक्रमों को कोई देखना भी नही चाहता।

बजरंग दल के विभाग संयोजक हेमन्तसिंह कहते है कि 135 साल पुरानी बुलंदशहर की ऐतिहासिक एग्री एंड कल्चरल नुमाइश में हो रहे इस नाच से जिला शर्मशार है। इस प्रदर्शनी में ऐसे कृत्यों के लिए कोई जगह तो नही होनी चाहिए, लेकिन अधिकारियों की संलिप्तता से सरकारी बजट धड़ल्ले से उड़ाया जा रहा है।

समाजवादी पार्टी मुलायमसिंह यादव यूथ ब्रिगेड के प्रदेश सचिव अंकित शर्मा का कहना है कि संस्कृति के नाम पर ऐसा माहौल नुमाइश में नही होना चाहिए। मुलायमसिंह यादव और सीएम अखिलेश यादव से इस मामले की शिकायत की जायेगी।

प्रदर्शनी के मंत्री सिटी मजिस्ट्रेट डीपी सिंह से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होने केवल इतना बताया कि प्रदर्शनी का समापन अब 14 अप्रैल को होगा। नुमाइश में अश्लीलता के मुद्दे पर उन्होने कहा कि वह छोटे अधिकारी है। इस मामले में उनका बोलना ठीक नही।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s