बुलंदशहर: IG ने की प्रेसकांफ्रेंस, गैंग लीडर सहित तीन आरोपी अरेस्ट, एक फरार

बुलंदशहर। राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच 91 मां-बेटी से गैंगरेप के बाद लूट की घटना में पुलिस ने तीन आरोपियों को अरेस्ट किया है। पुलिस ने सलीम, जुबैर और साजिद को मेरठ के मवाना इलाके से अरेस्ट किया है। जबकि इस गैंग का एक आरोपी पुलिस की पकड से अभी दूर है। मीडिया से रूबरू कराने से पहले तीनों आरोपियों को बुलंदशहर मेडिकल परीक्षण के लिए जिला अस्पताल लाया गया था। मेडिकल परिक्षण के बाद तीनों आरोपियों को आईजी की प्रेसकांफ्रेंस के लिए ग्रेटर नोएडा ले जाया गया।

29 जुलाई की रात को हाईवे पर परिवार को बंधक बना कर माँ बेटी के साथ गैंगरेप के मामले ने पुरे देश को हिला दिया था। पुलिस ने घटना के बाद कार्यवाई करते हुए 1 अगस्त को रईस, शाबेज और जबर सिंह को अरेस्ट कर जेल भेजा था। जबकि घटना के मुख्यअरोपी सहित 4 बदमाश फरार चल रहे थे। बता दे कि हाईवे कांण्ड का मुख्यारोपी सलीम सहारनपुर के गंगोह क्षेत्र का निवासी है, और कई वारदातों में फरार चल रहा था। सोमवार की रात 10 बजे पुलिस और सर्विलांस को सलीम की लोकेशन मेरठ के मावाना थाने के पास की मिली। बुलंदशहर और क्राइमब्रांच पुलिस ने मेरठ के मवाना क्षेत्र से सलीम, जुबैर और साजिद को अरेस्ट कर लिया है। जबकि इस गैंग का एक आरोपी पुलिस की पकड से अभी दूर है। मीडिया से रूबरू कराने से पहले तीनों आरोपियों को बुलंदशहर मेडिकल परिक्षण के लिए जिला अस्पताल लाया गया था। मेडिकल परीक्षण के बाद तीनों आरोपियों को आईजी की प्रेसकांफ्रेंस के लिए ग्रेटर नोएडा ले जाया गया। आईजी ने प्रेसकांफ्रेंस में बताया कि तीनों आरोपियों को पीड़ित परिजनों ने पहचाना है। लेकिन वादी का कहना है कि पडके गए आरोपियों की शिनाख्त नही कराई गयी।

ऐसे हुई थी वारदात
वारदात कोतवाली देहात क्षेत्र के राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच 91 पर दोस्तपुर गांव के पास की है। पीड़ित परिवार अपने रिश्तेदार की तेरहवीं के लिए नोएडा से शाहजहांपुर जा रहा था। डकैत राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच 91 के पास परिवार को रोक लिया और कोतवाली देहात इलाके के पास एक गांव के खेतों में ले गए। डकैतों ने हथियारों के बल पर कार सवार परिवार से डकैती की वारदात को अंजाम दिया। वारदात के बाद डकैतों ने परिवार की दो महिलाओं से सामूहिक बलात्कार भी किया है। करीब डेढ घंटे तक इस परिवार के साथ हैवानियत को अंजाम देने के बाद बदमाश वहां से फरार हो गए।

कोर्ट के आदेश के बाद गैंगरेप का मुख्यआरोपी अरेस्ट
इलाहाबाद हाई कोर्ट के कडे रूख के बाद पुलिस ने इस मामले में तेजी दिखाते हुए कार्रवाई की है। पुलिस ने सोमवार की रात 10 बजे तीनों फरार आरोपी सलीम, जुबैर और साजिद को मेरठ के मवाना से अरेस्ट किया है। बता दे कि इलाहाबाद हाई कोर्ट ने यूपी सरकार से मामले की जांच सीबीआई को सौपने के संबंध में अपना जबाव दाखिल करने के लिए कहा था। राज्य सरकार से हाईकोर्ट ने बुलंदशहर गैंगरेप की वर्तमान स्थिति के बारे में भी जानकारी मांगी थी। साथ ही कोर्ट ने सरकार से यह भी कहा पकडे गए लोगों का बैंकग्राउंड और अपराधिक पृष्ठभूमि की जानकारी भी उपलब्ध करायें। इस आदेश के बाद तीनों आरोपियों की अरेस्ट होने की पुष्टि रात को ही डीजीपी जावेद अहमद ने टवीट करके दी थी।

आईजी ने पीड़ि‍त की पहचान बता दी
मंगलवार को मेरठ के आईजी सुजीत पांडेय ग्रेटर नोएडा में प्रेस कांफ्रेंस कर घटना की जानकारी दे रहे थे। इस दौरान उन्‍होंने पीड़ि‍ता के पि‍ता का नाम ले लि‍या। इस पर मीडि‍या ने आपत्‍ति जताते हुए उनसे कहा कि सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के अनुसार रेप पीड़ि‍त की पहचान उजागर नहीं होनी चाहि‍ए थी। इस पर आईजी का जवाब था कि परि‍वार का नाम ले सकते हैं, पीड़ि‍त का नहीं।

8-10 दिन करते हैं रैकी, लोकल आदमी को रखते है साथ
पुलिस की गिरफ्त में आए सलीम ने पूछताछ के दौरान बताया कि डेरी की महिलायें और बच्चे डेरो से निकलकर दिन मे भीख मांगने के बहाने रैकी करते है। सलीम ने बताया कि वहां पर 8 से 10 तक रैकी की जाती है। रैकी करने के बाद ही गैंग के सभी सदस्य उस स्थान पर वारदात को अंजाम देकर गायब हो जाते है। सलीम ने पुलिस को बताया कि हाईवे पर पुलिस की गश्त बहुत कम थी जिस वजह से उन्होंने हाईवे पर गुजरने वाले लोगों को अपना शिकार बनाया। सलीम ने बताया कि जगह और रास्तों के बारे में जानकारी करने के लिए वहां के एक लोकल आदमी को साथ रखते है। लोकल आदमी से उन्हें आपस के इलाके और पुलिस की काफी जानकारी मिलती है। घटना के बाद लोक व्यक्ति से उन्हें पुलिस के मुवमेंट के बारे में भी जानकारी मिलती रहती है।

एक स्थान पर करते हैं 2-3 वारदात
सलीम ने पुलिस को बताया कि जहां पर भी डकैती डालते है वहां पर 2 से 3 वारदातों को अंजाम देते है। सलीम ने पुलिस को बताया कि राजस्थान के हनुमानगढ में उसके साथियों ने करीब 4 से 5 वारदातों को अंजाम दिया था, उसके बाद वहां से गायब हो गए। सलीम ने बताया कि यूपी, राजस्थान, उत्तराखंड, झारखंड, बिहार राज्यों में कई डकैती की वारदातों को अंजाम दिया है। पुलिस ने सलीम के मुँह से 2 दर्जन से अधिक वारदातें उगलवाई। पुलिस ने बताया कि सलीम और उसके साथियों से भी कई और वारदातों का खुलासा होना बाकी है।

10-15 मीटर पर खड़े रहते है लुटेरे
सलीम ने पुलिस को यह भी बताया कि लूट करने के लिए उसके गैंग के लोग अपने साथ गाडियों के औजार रखते है। गैंग के सदस्य 10-15 मीटर की दूरी पर पर खडे हो जाते है। गाडी के पास आते ही सड़क पर पाना फैक देते है, अगर गाड़ी नही रूकती है तो थोडी दूर खडा गैंग का सदस्य फिर से एक्सल फैक देता है। जिससे गाडी के ड्राईवर को लेगे की उसकी गाडी का ऐक्सेल टूट गया, जिसे देखने के लिए ड्राईवर गाडी को रोक देते है। गाडी के रूकते ही पूरा गैंग गाडी में बैठ लोगों को कब्जे में लेकर लूट की घटना को अंजाम देते है।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s